आप में भी यह आदत हो सकती है कि जैसे ही कंप्यूटर को आप ऑन करें उसके ऑन होते ही आपका हाथ अपने आप राइट क्लिक की तरफ चले जाता है और कंप्यूटर को बार बार रिफ्रेश करने की कोशिश करते हैं
जाने यह बात कहां से और कैसे आई कि बार बार रिफ्रेश करने से आपका कंप्यूटर तेज चलने लगेगा और इसका इस्तेमाल कुछ लोग तो बहुतायत में करते हैं
कुछ लोगों से जब पूछा गया कि वह रिफ्रेश क्यों करते हैं तो उनका यह मानना था कि उन्हें नहीं पता कि वो रिफ्रेश क्यों कहते हैं मगर वह रिफ्रेश इसलिए करते हैं क्योंकि सभी लोग ऐसा कर रहे हैं और जिस ने उनको सिखाया था वह भी वैसा ही कर रहा था तो ऐसा करना अब उनकी आदत बन चुकी है
सबसे पहले आप यह जान लीजिए कि यह रिफ्रेश करने का बटन आपके लिए क्या काम करता है राइट क्लिक करके रिफ्रेश करना या फिर सीधा ही एफ५ बटन दबाकर रिफ्रेश कर देना एक ही बात है
पुराने समय में जब कंप्यूटर काफी सुस्त हुआ करते थे और Windows भी काफी शुरुआती दौर में थी उस समय फाइल को कॉपी करने पर वह फोल्डर में सीधे तौर पर कभी-कभी दिखाई नहीं दिया करती थी तो कंप्यूटर को रिफ्रेश कर दिया जाता था जिससे वह फाइल दिखाई देने लगे
ऐसा भी होता था कि आपने कोई नया प्रोग्राम इंस्टॉल किया है और उसका आइकन आपके डेस्कटॉप पर दिखाई नहीं दे रहा है तो वह भी रिफ्रेश करने पर दिखाई दे जाया करता था । मतलब इसका साफ है कि रिफ्रेश करने से सिर्फ स्क्रीन पर दिखाई देने वाले आइटम्स ही रिफ्रेश हुआ करते थे और इसका रेम से या बायोस से किसी भी कोई भी प्रकार का लेना देना नहीं होता है
आज के समय कंप्यूटर काफी तेज हो गए हैं और हर कंप्यूटर में 2GB से ज्यादा ही राम पाई जाती है तो आइकंस को अपीयर होने में ना के बराबर समय लगता है और एक बार रिफ्रेश करने पर भी काम हो जाता है और यह तभी करना चाहिए जब आप कोई फाइल एक जगह से उठाकर दूसरी जगह कॉपी कर रहे हो अन्यथा बार बार रिफ्रेश करना सिर्फ झुनझुना हिलाने के बराबर है जिसका आपके आदत से लेना देना है मगर कंप्यूटर से लेना देना नहीं है
तो अगर आपका लैपटॉप 10 साल से ज्यादा पुराना है और आप अभी भी Windows की XP ही यूज कर रहे हैं तो रिफ्रेश करना आपके लिए कभी-कभार फायदेमंद हो सकता है मगर 100 में से 99 बार इसका कोई मतलब नहीं होगा और अगर आपका लैपटॉप या कंप्यूटर 10 साल के अंदर बनाया हुआ या नहीं कोर्ट टू डू ओके बाद का है और विंडोज सेवन के बाद की है तो रिफ्रेश करना हजार में से 999 बार किसी काम का नहीं है
अनजाने में डाली गई आदत अगर आप में भी है तो आज से अपनी इस आदत के ऊपर गौर फरमाना चालू करिए और अपने दोस्तों को भी बताइए कि इसका असली मकसद क्या होता है
सीकर टाइम्स में इस प्रकार की टेक जानकारियां और भी लेकर आते रहेंगे आप पढ़ते रहिए सीकर टाइम्स

Post a Comment

नया पेज पुराने