आपने घोड़ा गाड़ी, ऊंट गाड़ी तथा बैल गाड़ी तो सुना होगा मगर बकरा गाड़ी सुनकर या देखकर आश्चर्यचकितहो जाएंगे। सीकर टाइम्स ने खोजा है नगरश्री चूरू में बकरा गाड़ी । इस गाड़ी के दोनों छोरों पर बकरों को जोता जाता था । नगर सेठ इस गाड़ी पर बैठकर नगर भ्रमण के लिए जाता था। निम्न चित्र में शेखावाटी जनपद के लोकप्रिय कवि रामेश्वर बड़िया बकरा गाड़ी के साथ खड़े हैं।

Post a Comment

नया पेज पुराने