सीकर/झुंझुनूं 16 अगस्त 2018। राज्य पीसीपीएनडीटी सैल जिला प्रशासन झुंझुनूं व सीकर तथा बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं टीम के संयुक्त तत्वाधान में गत दो दिनों में दो डिकॉय ऑपरेशन किये गये है। जिनमें 6 आरोपीयों को गिरफ्तार किया गया जिनमें 2 महिलाऐं है व 4 पुरूष है वही एक आरोपी रविसिंह भागनें में सफल हो गया। 
राज्य पीसीपीएनडीटी सैल के राज्य समुचित प्राद्यिकारी एवं मिशन निदेशक नवीन जैन ने बताया कि झुंझुनूं जिले के सिघाना निवासी रविसिंह के द्वारा लिंग जांच करने की सूचना झुंझुनूं जिला कलैक्टर दिनेश कुमार यादव द्वारा दी गई जिसमें बताया गया कि लिंग जांच के आरोप में तीन बार पकड़े गये आरोपी रविसिंह द्वारा पुन: लिंग जांच करने का कार्य झुंझुनूं जिले सहित अन्य जिलों में भी पुन: प्रारम्भ कर दिया गया है। जैन ने बताया कि सूचना की पुष्ठि के बाद झुंझुनूं जिला प्रशासन , पीसीपीएनडीटी सैल व बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ की टीम ने संयुक्त रणनिती बनाई जिसमें टीम द्वारा सोलाना गांव की एक ऐसी महिला को चिन्हित किया गया जिसके पहले से दो बेटी है उसी के घर पर महिला की लिंग जांच करने के लिए रवि सिंह ने अपनी टीम सहित आकर लिंग जांच करने की हामी भरी। आरोपी रवि सिंह ने अलग-अलग समय में गांव वालों से महिला के  दो बेटीयां होने की पुष्टि करने के बाद देर रात को लिंग जांच करने की हामी भरी। नवीन जैन ने बताया कि 13 अगस्त की रात 12 बजे आरोपी रवि सिंह महिला को घर से लेने आया लेकिन घर वालों ने देर रात को महिला को भेजने से मना कर दिया तो आरोपी रविसिंह 14 अगस्त को प्रात: 4 बजे गर्भवती महिला के घर लिंग जांच करने पहुंचा जिस पर ईशारा मिलते ही टीम ने कारवाई प्रारम्भ की कारवाई के दौरान  दलाल फूलपती व ड्राईवर सुनिल कुमार को टीम के सदस्यों ने पकड़ लिया जबकि रवि सिंह अंधेरा का व बाजरे की फसल का  फायेदा उठाकर भाग गया। जैन ने बताया कि भागने के दौरान सोनोग्राफी मशीन के कुछ उपकरण वही गिर गये थे जो टीम ने जब्त किये। दलाल फुलपती से उसके हिस्से की राशि हुबहु नोट बरामद किये। इन आरोपीयों की मुख्य सुत्रधार रविसिंह की पत्नी जो वर्तमान में बीकानेर में रह रही है के द्वारा लिंग जांच करने का कार्य संचालित किया जा रहा है। फरार आरोपी रविसिंह की तलाश की जा रही है। राज्य पीसीपीएनडीटी सैल, जिला प्रशासन झुंझुनूं  के संयुक्त तत्वाधान में की गई,कारवाई का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस अद्यीक्षक शिल्पा चौधरी द्वारा किया गया जिसमे पीबीआई थाने के सीआई सीताराम, सीआई उमेश निठारवाल, महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक विप्लव न्यौला,आशा समन्वयक झुंझनूं संजीव महला, झुंझुनूं पीसीपीएनडीटी सम्रवयक दिनेश कुमार,सीकर समन्वयक नंदलाल पूनियां, कॉस्टेबल लालूराम, शंकर शामिल थे। 

सीकर 16 अगस्त 2018। सीएमएचओ सीकर डॉ अजय चौधरी ने बताया कि 15 अगस्त को शाम 9 बजे लिंग जांच के आरोपी रहे सराकरी कम्पाउडी सीकर निवासी निर्मल सिंह को टीम सहित अपंजीकृत पोर्टेबल मशीन सहित गिरफ्तार किया। जैन ने बताया कि सीकर जिला प्रशासन ,बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं व जिला पीसीपीएनडीटी सैल के समुचित प्राद्यिकारी डॉ.अजय चौधरी  के द्वारा राज्य पीसीपीएनडीटी सैल को सूचना दी गई की निर्मलसिंह व सरकारी एएनएम द्वारा सीकर जिला मुख्यालय पर अवैध सोनोग्राफी मशीनों से लिंग जांच का कार्य किया जा रहा है। मिशन निदेशक ने बताया कि आरोपी निर्मल सिंह द्वारा अवैध पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन से लिंग जांच करने व सरकारी नर्सो द्वारा दलालों की भूमिका निभाऐं जाने की पुष्टि के बाद बुधवार को डिकॉय कार्यवाही करना तय किया गया। जिस पर सहयोगी व गर्भवती महिला द्वारा लक्ष्मणगढ़ निवासी सरकारी नर्स सरोज द्वारा 45 हजार रूपये लिफाफे में डालकर दिऐ गऐ लेकिन उसने सहयोगी महिला को  लिफाफा वापिस देकर जय भवानी मेडिकल स्टोर पर देनें के लिए कहांं। आरोपी नर्स के अनुसार पैसे देकर गर्भवती महिला को दलाल व गाड़ी ड्राईवर तथा गाड़ी में पहले से मौजूद आरोपी निर्मल सिंह के साथ दोनो महिलाऐं बैठकर निर्धारित स्थान पर ले गये जहां पर निर्मल सिंह ने महिला की लिंग जांच की। टीम को ईशारा मिलते ही आरोपीयों को गिरफ्तार किया तथा काम में ली गई अवैध पोर्टेबल मशीन व गाड़ी को जब्त किया गया। गिरफ्तार आरोपीयों से टीम द्वारा दी गई हुबहु राशि बरामद की गई। राज्य पीसीपीएनडीटी सैल, जिला प्रशासन सीकर  के संयुक्त तत्वाधान में की गई,कारवाई का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस अद्यीक्षक शिल्पा चौधरी द्वारा किया गया जिसमे पीबीआई थाने के सीआई सीताराम, सीआई उमेश निठारवाल, महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक राजेन्द्र चौधरी, पीसीपीएनडीटी सीकर समन्वयक नंदलाल पूनिया, आशा समन्वयक झुंझनूं संजीव महला, झुंझुनूं पीसीपीएनडीटी सम्रवयक दिनेश कुमार, कॉस्टेबल लालूराम, शंकर, सामाजिक कार्यकर्ता बीएल मील, तरुण,वीरेंद्र शामिल थे।



Post a Comment

नया पेज पुराने