फर्जी स्टिंग देख कर अगर आपका मन भर गया होगा तो अब आपके सामने आयेंगे ऐसे सबूत जो क्रांतिकारी चैनल की दूकान का पर्दाफाश कर देंगे क्यूंकि हमने चलाया है "स्वच्छ मीडिया अभियान"
न कोई डर न कोई खौफ्फ़ और न ही कोई बिकने वाले विज्ञापन, हम हैं सीकर टाइम्स जो गिरते हुए पत्रकारिता के स्तर को वापस सुधारने के लिए दम साध चुके हैं और हमारी ताकत हमारे पाठक हैं
जान लें कि छोटे से शहर में बहुत थोड़े से संसाधन होने के बावजूद पिछले हफ्ते हमने व्यूअर शिप में बड़े बड़े राष्ट्रीय चैनलों को ऐसा पठखा कि लाखों रूपये कि तन्खुआह लेने वाले चैनल हेडों की नौकरी चली गई, मगर हम जानते हैं कि असली गुनेहगार जो उनको खुद निर्देश देता है कि इस मुद्दे को रहने दो और इस मुद्दे को ही उठाओ वो चैनल का मालिक है इसलिए चैनल के एडिटर्स से हमारी लड़ाई नहीं है और छोटे पत्रकार जो दर दर की ठोकरें खाते हैं वो तो बेचारे हमारे भाई हैं जिनका हमें समर्थन प्राप्त है
अब आप हो जाइए तैयार क्यूंकि हमारी इन्वेस्टीगेशन अंतिम चरण में है और हम कोई भी खबर बिना पुख्ता सबूत के लिए नहीं चलाते तो आपको सबूत मिलेगा और पुख्ता मिलेगा

Post a Comment

नया पेज पुराने