एक दर्जन हथियारबंद डकैत करने वाले थे कल रात एतिहासिक डकैती | जीहाँ पूरे 925 करोड़ रूपये अगर डकैत ले उड़ते तो ये होती इतिहास की आजतक की सबसे बड़ी डकैती मगर सीकर के सपूत के आगे सारी डकैती फ़ैल हो गई और

पुलिस के मित्रों में पहले से ही है जाट के निर्भीक रवैये की चमक 

तीन साल पहले सीता राम जाट ने जब पुलिस की वर्दी धारण की थी तभी से अपने दोस्तों में उसके निर्भीक रवैये की तारीफ होती थी | सीकर में कांस्टेबल शिव दयाल ने हमें बताया कि पुलिस में शानदार ट्रेनिंग मिलती है और ये भी बताया जाता है कि डकैतों की मानसिकता किस प्रकार होती है और उनपर हावी होने के लिए किस प्रकार की रणनीति बनाई जाती है | 

दर्जन से ज्यादा डकैत से अकेले ले लिया मोर्चा 

जयपुर में सी स्कीम पोश इलाके में आता है और यहाँ पर सभी बड़े बैंकों का हेड ऑफिस है इसलिए यहाँ सबसे चुस्त पुलिसकर्मी को लगाया जाता है | डकैतों ने बढ़िया से रेकी की थी और आनन् फानन में निजी गार्ड को बंधक बना लिया मगर सीताराम के तेज़ कानों ने सुन लिया कि आसपास गड़बड़ हो रही है, वो वहां तुरंत पहुंचा और हथियार बंद डकैतों पर फायर खोल दी साथ में ललकार दिया | दबंग आवाज़ और फायर के दोहरे मोर्चे ने डकैतों के पाँव उखाड़ दिए | 

सीकर पुलिस में ख़ुशी और जोश 

आमतौर पर गंभीर मुद्रा में ड्यूटी देने वाले पुलिस कर्मी आज जोश में दिखाई दिए, हमने उद्योग नगर थाना में जाकर बात की तो पुलिस ने बताया अपराधी कैसा भी हो, हमारे आगे फ़ैल है | अगर एक सीकर का जवान ऐसा कर सकता है तो अपराधियों को जान लेना चाहिए सीकर में तो सैंकड़ों सीता राम हैं जो अपने फर्ज के लिए मर मिटने को तैयार हैं | पुलिस वाले खुश थे क्यूंकि मीडिया कम ही पुलिस की तारीफ करता है 

दांता रामगढ का है सीता राम 

सीकर के दांता रामगढ में छोटा सा गाँव है पुनिआणा, यहीं का रहने वाला है पुलिस का हीरो सीता राम, पढाई गाँव में ही की फिर रेनवाल और खूड से स्नातक एवं बी एड भी की | मौका मिलते ही उनका इंटरव्यू सीकर टाइम्स पर लायेंगे |

Post a Comment

नया पेज पुराने