हॉलीवुड की एकमात्र मूवी जिसके ट्रेलर ने सभी रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए थे उसमें पुराने कलाकार को हटाकर रणबीर सिंह को हिन्दी डबिंग के लिए लेकर आफ़त मोल ले ली है। 
फ़िल्म डेडपूल का ट्रेलर जब आया था तो उस समय उसमें आवाज़ किसी और की थी और ट्रेलर ने हॉलीवुड मूवी के ट्रेलरों का रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया था। ऐसा लग रहा था कि ट्रेलर में जो कोहराम मचाया है उसके ज़्यादा कोहराम मूवी ख़ुद मचाएगी।  पहला ट्रेलर हिट होने के बाद फ़िल्म निर्माताओं ने सस्ते कलाकार को हटाकर रणबीर कपूर को डबिंग के लिए चुन लिया। उनकी जानकारी में पद्मावती से जुड़े विवाद नहीं थे और यहीं पर निर्माताओं ने आफ़त मोल ले ली। 
रणबीर की आवाज़ में आए दूसरे ट्रेलर की हवा निकल गई उसमें जनता ने भर भर के गालियाँ लिखी लोगों ने कहा कि वो पिक्चर देखने नहीं जाएंगे। वैसे पहले ट्रेलर से भी ज़्यादा आक्रामक दूसरा ट्रेलर था जिसमें रणबीर की आवाज़ थी मगर इस बार पब्लिक ने उसे सिरे से ख़ारिज कर दिया। सिर्फ़ पद्मावती विवाद को भूल जाएं तो दूसरा ट्रेलर पहले वाले से कहीं बेहतर था और आवाज़ भी ज़्यादा पॉपुलर कलाकार की थी मगर इस प्रकार का हश्र सीधे तौर पर इशारा कर रहा है करनी सेना की नाराज़गी अभी पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुई है और रणबीर, दीपिका कि आने वाली फ़िल्मों पर भी इसका पूरी तरह प्रभाव दिखाई दे सकता है। 
इस प्रकार की ख़बरें भी आ रही है कि निर्माताओं को अपनी गलती का एहसास हो गया है और हो सकता है कि आनन फ़ानन में ही डबिंग की आवाज़ बदल दी जाए। 
दर्शकों का इस प्रकार का रवैया हैरान करने वाला है मगर पिछले दिनों जिस प्रकार दर्शकों की संवेदनाएं आहत हुई थी उसके बाद एक पिक्चर तो भले ही हिट हो गई हो मगर रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और संजय लीला भंसाली को आने वाले समय में भी इसका भारी नुक़सान उठाना पड़ सकता है जैसा हश्र अभी अभी डेडपूल के दूसरे ट्रेलर का हुआ है। 






















Post a Comment

नया पेज पुराने