Dhod, 18 July: सचिन पायलट आज कांग्रेस के कार्यक्रम मेरा बूथ मेरा गौरव में हिस्सा लेने सीकर पहुँचे जहाँ राजेंद्र पारीक व अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता उनके स्वागत के लिए धोद बाईपास पर पहले से ही तैयार खड़े थे। सचिन पायलट बाई पास पहुँचते ही गाड़ी से उतरे और राजेंद्र पारीक को लेकर ख़ुद ड्राइवर वाली सीट पर बैठ गए। उन्होंने अन्य कार्यकर्ताओं से कहा कि देर हो रही है आप लोग भी यहाँ स्वागत में और देर न करें और साथ चले। 
पारीक  एक बार तो हिचकिचाए मगर सचिन पायलट ने उनके लिए अपनी गाड़ी का गेट खोल दिया तो उन्हें बैठना पड़ा। उन्हें बैठाकर सचिन पायलट फटाफट ड्राइवर सीट पर आए और सभी कार्यकर्ताओं को इशारा कर साथ चलने को कहा। सभी कार्यकर्ताओं में यह दृश्य देखा और सचिन पायलट ज़िंदाबाद के नारे लगाए। ऐसी घटनाओं से कार्यकर्ताओं का मनोबल में कई गुना की वृद्धि हो जाती है जहाँ पर प्रमुख नेता सभी कार्यकर्ताओं को परिवार की तरह तवज्जो देते हैं। 
हम अपना कैमरा संभाल पाते इतने में तो सचिन पायलट “ये जा वो जा” हो गए, फिर भी जाते जाते गाडी से ही नमस्कार करते हुए घड़ी की तरफ इशारा कर गऐ। जयपुर से चले सचिन पायलट के क़ाफ़िले को सीकर के धोद  में सभा करते हुए बीकानेर के लिए भी निकलना था। राजनेताओं को प्रतिदिन कितना सफ़र करना पड़ता है और कितनी मेहनत करनी पड़ती है इसकी तरफ़ जनसाधारण का ध्यान ज़्यादा नहीं जाता, और इसमें कभी कभी कोई राजनेता के मुँह से कुछ निकल जाता है तो मीडिया कर्मी उसे पूरे बाजे गाजे के साथ कई दिन तक चलाते हैं। वैसे हम भी इस मामले में कम नहीं हैं और यही मीडिया का काम भी है। 















Post a Comment

नया पेज पुराने