जयपुर : सचिन पायलट युवा और लोकप्रिय है इसका सीधे तौर पर कांग्रेस को वोट इकट्ठे करने में फायदा मिलता है और राजनितिक सलाहकारों, सोशल मीडिया स्ट्रैटजिस्टों से यह बात छुपी नहीं है| जहाँ वसुंधरा राजे के सामने गहलोत को प्रतिद्वंद्वी देखा जाता है वहीँ सचिन पायलट को सँभालने के लिए भाजपा में चेहरे की खासी कमी थी जिसको पूरा करने के लिए पार्टी ने राज्यवर्धन को चुना है |

सचिन केवल राजनैतिक वहीँ राज्यवर्धन राजनैतिक के साथ खिलाडी सैनिक भी 

युवा वोटरों को वयोवृद्ध नेता इतने लुभावने नहीं लगते और उन्हें अपना आइकॉन युवा ही चाहिए होता है जिसकी हर गतिविधि को युवा फॉलो करता है साथ ही उसके जैसा बनने की कोशिश करता है ऐसे में सैनिक, खिलाडी और राजनैतिक तीनो फॉर्मेट में राठोड सचिन पायलट को पटखनी देने के लिए भाजपा का जबरदस्त प्लान साबित हो सकते हैं

उपलब्द्धियों को युवाओं तक पहुँचाने में असमर्थ रही वसुंधरा सरकार को राठोड का सहारा 

जहाँ सचिन पायलट ने पिछले चार साल से वसुंधरा की हर नीति को अपने समर्थकों के सामने नाकामियाब साबित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है वहीँ मोर्चा संभाले राज्यवर्धन ने अपने ही तरीके से दमदार जनसम्पर्क व खुदके मोबाइल से वीडियो बनाकर डालने शुरू कर दिए हैं जिसकी चमक साफ़ तौर से देखी जा सकती है| आज के युवा जहाँ अपने वीडियो खुद बनाते हैं वहीँ किसी मिनिस्टर का भी उनकी तरह वीडियो बनाना युवाओं को वीडियो में इंटरेस्ट पैदा करने के लिए काफी है साथ ही इससे व्यक्तित्व की सरलता व कनेक्ट कर पाने में ज्यादा असर दीखता है | सचिन पायलट भी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं मगर उनके पीछे पूरी टीम दाल बल के साथ रहती है जो उनको आम युवा से अलग कर देता है |





Post a Comment

नया पेज पुराने