हैरानी की बात है कि महिलाओं से कुछ लोगों को इतनी दिक्कत क्यूँ है ?  अभी कल ही एक पत्रकार को इसलिए पीट दिया क्यूंकि वो महिलाओं की तरफदारी कर रहा था (विडियो देखें )और आज पूरे देश के महिला सम्मान के एजेंडा से बगावत करते हुए सीकर में ये अलग राग अल्पाया जा रहा है
आल इंडिया किसान सभा (AIKS) जो देश की एक बेहतरीन संस्था है वो महिलाओं के सम्मान के लिए समय समय पर कार्यक्रम करती रहती है और महिला सम्मान के लिए जानी जाती है | ये भी जान लें कि इसका कोई अलग ऑफिस नहीं है और किसान सभा ही सीपीआई का किसान फ्रंट है जो कल यानि 12 मार्च को देश के AIKS एजेंडा के विपरीत मूर्ति खंडन के खिलाफ मार्च निकलेगी और विरोध करेगी | AIKS के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमराराम सीकर से आते हैं मगर AIKS या तो उनके अनुसार नहीं चल रही या फिर कम्युनिस्ट अब मूर्ति के प्रति अपनी विचारधारा बदल रहे हैं
सीपीआई ऑफिस में कल एक पत्रकार को इसलिए पीटा क्यूंकि वो महिलाओं के पक्ष में अपनी रिपोर्ट कर रहा था और आज इन्होने इसका पूरा प्रूफ ही दे दिया कि ये महिला एजेंडा को बिलकुल ही दुसरे दर्जे का एजेंडा मानते हैं और मूर्तियों के प्रति अपनी विचारधारा को भी बदल रहे हैं 






Post a Comment

नया पेज पुराने