एजेंसी:चुनाव का समय आते ही जहाँ राजनेता बढ़ चढ़कर धार्मिक संस्थानों का रुख़ करते हैं वहीं एक राजनेता का हनुमान मंदिर जाना उनके लिए आफ़त बन गया। समाजवादी पार्टी से भाजपा में आए उत्तर प्रदेश के
बुक्कल नवाब को दारुल उलूम देवबंद उलेमाओं ने इस्लाम से ख़ारिज कर दिया है। देवबंदी उलेमाओं का कहना है कि जो मुसलमान अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत करते हैं ऐसे लोग इस्लाम में रहने लायक नहीं है। बुक्कल नवाब का कहना है कि जब हिन्दू राजनेता मस्जिदों में जाते हैं तो उनके ऊपर उलेमा क्यों कुछ नहीं कहते। बुक्कल नवाब ने पहले भी  बयान देकर कोहराम मचा दिया था जब उन्होंने कहा था कि भारत में रहने वाले सभी भारतीयों के पूर्वज मुगलों के आने से पहले हिन्दू ही थे जिनमें उलेमाओं के पूर्वज भी शामिल है। आज़म ख़ान ने कहा कि जो लोग अपने आप को मुसलमानों के ठेकेदार समझ कर किसी को भी इस्लाम से बाहर कर देने का फ़तवा जारी करते हैं उन लोगों को बाज़ आना चाहिए। 




बुक्कल नवाब ने हनुमान मंदिर में हनुमानजी के दर्शन करते समय भगवा वस्त्र धारण कर रखे थे। 

Post a Comment

नया पेज पुराने