सोशल मीडिया पर एक जिम में कसरत करती महिला की फ़ोटो वायरल हो गई जिसमें उसमें बुर्क़ा नहीं पहन रखा था इस पर साउदी की प्रशासन ने जिम को ही बंद करवा दिया
सीकर से साउदी काम करने गए रामफूल जाट ने सीकर टाइम्स को जानकारी दी जिसे बाद में हमने अंतरराष्ट्रीय अख़बारों से मैच भी करा और घटना की सत्यता स्थापित की। 
साउदी एक सहिष्णु देश है जहाँ पर महिलाओं का काफ़ी सम्मान किया जाता है। मगर कभी कभी सम्मान इतना बढ़ जाता है कि वह घुटन बन जाता है। 
अपने बालों को ढक कर रखना साउदी में महिलाओं के लिए आवश्यकता  है यहाँ तक कि खेलों के समय भी अंतरराष्ट्रीय महिला खिलाड़ियों को हिजाब में रहना पड़ता है जिस वजह से कई  महिला खिलाड़ी सऊदी में जाने से मना कर चुकी है। अंतरराष्ट्रीय महिलाएं इसे साउदी में महिलाओं को दूसरे दर्जे की नागरिक की तरह बर्ताव मानती हैं। 
शेखावाटी से अंदाज़ा पाँच लाख के क़रीब मज़दूर साउदी और अन्य खाड़ी देशों में इस समय कार्य कर रहे हैं। जब वो छुट्टी मनाने सा पूरे तौर से वापस घर आते हैं तो साउदी की कुछ अच्छी तो कुछ ख़राब मानसिकता साथ लाते हैं जिसकी वजह से कभी कभी शेखावाटी  की व्यवस्था और मानसिकता में तनाव आ जाता है। 



Post a Comment

नया पेज पुराने